प्रस्तावना

प्रस्तावनाजन संकल्प २०१३ एवं दृष्टि पत्र २०१८ में पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख़्यक वर्ग के शिक्षित अभ्यथिर्यो के लिए रोजगार के अवसर उपलब्ध कराने हेतु विविध रोजगारमूलक परीक्षाओ की तैयारी हेतु निःशुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण देने का प्रावधान किया गया है। वर्तमान में विभाग द्वारा पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख़्यक वर्ग के अभ्यथिर्यो हेतु इस दिशा में विभाग के एक मात्र प्रशिक्षण केंद्र राज्य स्तरीय रोजगार एवं प्रशिक्षण केंद्र में विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ हेतु निःशुल्क परीक्षा पूर्व प्रशिक्षण देने का प्रावधान किया गया है। मध्य प्रदेश राज्य लोक सेवा आयोग की परीक्षाओ एवं अन्य प्रतियोगी परीक्षाओ की तैयारी करने हेतु इस प्रशिक्षण केंद्र की क्षमता सीमित है। केंद्र में मात्र 150 अभ्यर्थियों की संख्या में उत्तरोत्तर वृद्धि होने से इस क्षेत्र में विभाग की वर्तमान प्रशिक्षण सुविधा अपर्याप्त है। अतः इस क्षेत्र में बढ़ती हुई स्पर्धा एवं नियोजन की बढ़ती हुई मांग को ध्यान में रखते हुए पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए कम्प्यूटर एवं विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओ यथा संघ/राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित प्रवेश परीक्षा, राज्य शासन के प्रोफेशनल एग्जामिनेशन बोर्ड / केंद्रीय कर्मचारी चयन आयोग / आई. बी.पी. एस. / रेलवे / अन्य समकक्ष संस्थाओ द्वारा विभिन्न क्षेणी के पदों की पूर्ति हेतु आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षाएं, विभिन्न तकनीकी एवं व्यवसायिक संस्थाओ के स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश हेतु अयोजित की जाने वाली विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा यथा - जे.ई.ई. मेन्स एवं एडवांस, ए.आई.पी.एम.टी. / एन.ई.ई.टी., क्लेट, सी.ए. इत्यादि एवं विश्वविधालय द्वारा संचालित विभिन्न एक वर्षीय (कम्प्यूटर से संबंधित रोजगारोन्मुखी सर्टिफिकेट पाठ्यक्रम साथ में एकीकृत व्यक्तित्व विकास ) पाठ्यक्रम हेतु तैयार करने एवं निःशुल्क प्रशिक्षण सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से द्वारा प्रवेश के संभागीय मुख्यालयों एवं अन्य प्रमुख जिलों में निःशुल्क गुणवत्ता पूर्ण प्रशिक्षण उपलब्ध कराना है, जिससे की प्रदेश के पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक वर्ग के युवक-युवतियों को, विशेषकर बालिकाओं को अपने गृह जिले / निकटतम जिले में प्रशिक्षण की निःशुल्क सुविधा उपलब्ध हो सके। प्रारम्भ में इन केन्द्रो का संचलान अनुभवी एवं मान्यता प्राप्त कुशल प्रशिक्षण संस्थाओ के माध्यम से किया जायेगा।